Thursday, March 24, 2011

तुम्हारी आँखों में खो गये है.....

तुम्हारी आँखों में खो गये है,
मेरे दिल के अरमान सारे,
कही डूब न जाऊँ इनमें,
कर दो तुम,मुझको किनारे।
पलकों पर तेरे रहने की तमन्ना,
होंठों पर टिकी इक चाहत,
अपने दिल के कोने में कही,
सुनता हूँ तेरे कदमों की आहट।

अब इक गुजारिश तुमसे है,
मुझको ना कभी तुम बिसराना,
तुम छोड़ अकेली दुनिया में,
नहीं दूर जमाने से जाना।

क्योंकि है तुमसे प्यार बहुत,
ये कैसे मै तुमको बतलाऊँ,
संगीत की देवी तेरी खातिर,
मै कैसे कोई गीत बनाऊँ?

हम तो खुद से ही है हारे,
गम भी तो लगते है प्यारे,

तेरी चौखट की आस तके,
मेरे ये नैन हुए मतवाले।

तुम्हारी आँखों में खो गये है,
मेरे दिल के अरमान सारे।

15 comments:

संजय भास्कर said...

कोमल भावों से सजी ..
..........दिल को छू लेने वाली प्रस्तुती

संजय भास्कर said...

वाह!!!वाह!!! क्या कहने, बेहद उम्दा

kshama said...

Nihayat sundar rachana.Behad komal-si,nafees!

Dr (Miss) Sharad Singh said...

तुम्हारी आँखों में खो गये है,
मेरे दिल के अरमान सारे,
कही डूब न जाऊँ इनमें,
कर दो तुम,मुझको किनारे।

भावनाओं का बहुत सुंदर चित्रण . ...बधाई

वन्दना said...

प्रेम के रंगो से रंगी रचना।

nivedita said...

प्रभावी अभिव्यक्ति.....
कोमल एहसास.......
सुन्दर रचना.........

प्रवीण पाण्डेय said...

स्वप्न हमारे, तेरी आँखें।

मुकेश कुमार तिवारी said...

सत्यम जी,

बहुत अच्छे से अपनी बात कही है......

अपने दिल के कोने में कही,
सुनता हूँ तेरे कदमों की आहट।

सादर,

मुकेश कुमार तिवारी

नोट : आपके ब्लॉग पर कुछ टिप्पणी देना मेरे लिये न जाने क्यों टेढी खीर की तरह ही है। कोई जावा की त्रुटि की वज़ह से अक्सर विंडो ओपन ही नही होती है और आपने ईमेल पता भी नही दिया है जो अपनी बात आप तक पहुँचायी जा सके। धन्यवाद!

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

Bahut sunder bahv....

राज भाटिय़ा said...

अति सुंदर रचना, धन्यवाद

PRIYANKA RATHORE said...

bahut sundar bhav...aabhar

Sadhana Vaid said...

अनुराग के रंग में डूबी बेहतरीन रचना ! बहुत सुन्दर ! बधाई एवं शुभकामनायें !

Dwarka Baheti 'Dwarkesh' said...

प्रेम-भरी सुन्दर रचना

विशाल said...

बहुत खूब.
दिल को छू गयी आपकी कविता.

artijha said...

हम तो खुद से ही है हारे,गम भी तो लगते है प्यारे,
तेरी चौखट की आस तके,मेरे ये नैन हुए मतवाले।
तुम्हारी आँखों में खो गये है,मेरे दिल के अरमान सारे। bhut sunad likha aapne....likhte rahiye...or hum padhte rahrnge....badhai