Friday, July 29, 2011

ब्याह की बात

भाभी ने की जो माँ से,
है आज मेरे ब्याह की बात।
मन में मेरे लड्डू सा फूटा।
इक कुँवारे जवान दिल आशिक से,
वर्षो से उसका खुदा जैसे था रुठा।

तन्हाईयाँ डसने लगी थी,
सुंदरियों की खुबसूरत तस्वीरें,
नैनों में मेरे बसने लगी थी।

रोता था रातों को छुपकर,
और दिन में आहे भरता था।

कुँवारी जवानी का बोझ भारी,
दिल पे मै अपने सहता था।

रातों में सपने आती थी,
मुझको दगा दे जाती थी,
कुरेद कर मेरी हसरतों को,
सताती थी और खूब तड़पाती थी।

सदियों के बाद मानों आज,
आई थी वो प्यार की रात।

सुहाने सपनों की रात,
स्वप्न में सुंदरी का साथ।

भाभी ने की जो माँ से,
है आज मेरे ब्याह की बात।

जिंदगी में ना मेरे कोई काम था अब बाकी,
पीने वाला मै ही था,
मै ही मधुशाला और साकी।

लड़खड़ाते कदमों से लुढ़कता रहता रात भर,
परिवार वालों को मेरे कैसे भी पता चले ताकि।
कि पूरा परिवार नहीं है,
कोई काम अभी भी है बाकी,
मेरी दुल्हन है राह देखती,
करवा दो कोई मेरी शादी।

मेरा जीवन तो सूना है,
ये दर्द तो हर दर्द से कई गुणा है।

बिन माँगे ही मिल गयी मुझे तो,
आज कोई सौगात।

भाभी ने की जो माँ से,
है आज मेरे ब्याह की बात।

सेहरा सर पर सजेगा मेरे,
रसगुल्ले,मिठाईयाँ बटवाऊँगा।

कब से था भूखा शादी को,
शादी के रोज खूब खाऊँगा।

गीत सजेंगे होंठों पर,
हर बात तराना बन जायेगा,
अपनी बारात में घोड़ी पर बैठा,
कोई गीत जब मै गाऊँगा।

हाथों में होगा जब किसी का हाथ,
बन जायेगी मेरे किस्से की बात।
मिल जाएगा जो सुंदरी का साथ,
खुबसूरत होगी अब मेरी हर रात।

भाभी ने की जो माँ से,
है आज मेरे ब्याह की बात।

"शादी वो लड्डू है जो खाए वो भी पछताए और जो न खाए वो भी ... तो खा कर ही पछताया जाये :):)"


 हा हा हा हा.....:):)

15 comments:

रविकर said...

हा हा हा हा.....

बहुत सुन्दर प्रस्तुति ||
बधाई ||

शालिनी कौशिक said...

है,कोई काम अभी भी है बाकी,मेरी दुल्हन है राह देखती,करवा दो कोई मेरी शादी।
सत्यम जी bahut खूब भाभी के साथ लगे रहिये आपका काम करा ही देंगी.bahut सुन्दर भावाभिव्यक्ति.बधाई

Manish Kr. Khedawat said...

bahut sunder
padhkar maza aa gaya :)
orr haan aapko iss khudkhushi ke liye badhaiyan :P

Roshi said...

bahut hi sunder ............
bhavi ka kaam hota hi hai devar ka dhyan karna

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

बहुत खूब...सुन्दर भावाभिव्यक्ति....

kshama said...

Ha,ha,ha!

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

:):) बढ़िया प्रस्तुति

Patali-The-Village said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति|

vidhya said...

हा हा हा हा.....
रचा है आप ने
क्या कहने ||
लिकं हैhttp://sarapyar.blogspot.com/
अगर आपको love everbody का यह प्रयास पसंद आया हो, तो कृपया फॉलोअर बन कर हमारा उत्साह अवश्य बढ़ाएँ।

Dr (Miss) Sharad Singh said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...हार्दिक बधाई...

somali said...

bahut sundar parsatuti

प्रवीण पाण्डेय said...

बहुत बधाई हो, आप खुश रहें।

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ said...

आपकी इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा कल दिनांक 01-08-2011 को चर्चामंच http://charchamanch.blogspot.com/ पर सोमवासरीय चर्चा में भी होगी। सूचनार्थ

Dr Varsha Singh said...

मजेदार प्रस्तुति ....

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

मज़ेदार
---------
आपकी एक पोस्ट की हलचल आज यहाँ भी है